मंत्री जी पर आधारित कविता

मंत्री जी पर आधारित कविता देवेश दीक्षित द्वारा लिखी गयी है। मंत्री जी ओ मंत्री जी मुँह उठा कर कहाँ चले धोती कुर्ता पहन के टोपी धूल उड़ाकर कहाँ चले…
View Post

नारी दिवस – Women’s day kavita

नारी दिवस पर आधारित कविता देवेश दीक्षित द्वारा लिखी गयी है। नारी दिवस के महत्व को समझो मेरे यार नारी से ही है सृष्टि इसका करो सम्मान यदि न होती…
View Post

जन्माष्टमी पर आधारित कविता

जन्माष्टमी पर आधारित कविता देवेश दीक्षित द्वारा लिखी गयी है। बाल कृष्ण मुरली मनोहर जब भी खेल रचाएं एक सबक होता उसमें फिर परमानंद मनाएं प्रत्येक जीव उनकी धरोहर उन…
View Post

धार छंद – आज की दशा

धार छंद “आज की दशा” आधारित कविता बासुदेव अग्रवाल ‘नमन’ द्वारा लिखी गयी है। अत्याचार।भ्रष्टाचार।का है जोर।चारों ओर।। सारे लोग।झेलें रोग।हों लाचार।खाएँ मार।। नेता नीच।आँखें मीच।फैला कीच।राहों बीच।। पूँजी जोड़।माथा…
View Post

नवगीत – भगवन चाटुकार मैं भी बन जाऊँ

भगवन चाटुकार मैं भी बन जाऊँ।बन्द सफलताओं पे पड़ेतालों की कुँजी पा जाऊँ।। विषधर नागों से नेता, सत्ता वृक्षों में लिपटे हैं;उजले वस्त्रों में काले तन, चमचे उनसे चिपटे हैं;जनता…
View Post

Poet Ravidra Prabhat

Nam ut rutrum ex, venenatis sollicitudin urna. Aliquam erat volutpat. Integer eu ipsum sem. Ut bibendum lacus vestibulum maximus suscipit. Quisque vitae nibh iaculis neque blandit euismod. Maecenas sit amet…
View Post

आल्हा छंद – अग्रदूत अग्रवाल

आल्हा छंद अग्रदूत अग्रवाल अग्रोहा की नींव रखे थे, अग्रसेन नृपराज महान।धन वैभव से पूर्ण नगर ये, माता लक्ष्मी का वरदान।।आपस के भाईचारे पे, अग्रोहा की थी बुनियाद।एक रुपैया एक…
View Post